किशानो को दी जा रही है मशीन ख़रीदने के लिए सब्सिडी

किशानो को दी जा रही है मशीन ख़रीदने के लिए सब्सिडी

कृषि क्षेत्र में किसानों को दिए जा रहे यंत्र को उपलब्ध करवाने के लिए विभिन्न योजनओं के तहत सब्सिडी (Agricultural machine grant) पर कृषि यंत्र दिए जाते हैं। विभिन्न जनपदों में लक्ष्यों की प्राप्ति के लिए किसानों से इस वित्त वर्ष में आवेदन आमंत्रित किये गए हैं। इच्छुक किसान इन सभी कृषि यंत्रों के लिए अभी ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं।

क्या हुआ किसान मंत्रीयो और सरकार की मीटिंग का परिणाम

आवेदन यंत्रों के प्रकार:- विभिन्न कृषि यंत्रो की सूचि इस प्रकार है।

  • हैरो
  • कल्टीवेटर
  • मिनी राइस मिल
  • पॉवर टिलर
  • लेजर लैंड लेवलर
  • मल्टी क्रॉप थ्रेशर
  • पॉवर चेफ कटर
  • ट्रेक्टर माउंटेड स्प्रेयर
  • डिस्क प्लाऊ
  • आयल मिल विथ फ़िल्टर प्रेस
  • रोटावेटर
  • स्ट्रॉ रीपर
  • पैकिंग मशीन
  • आलू खुदाई मशीन

कृषि यंत्रों पर दी जाएगी 50 प्रतिशत तक की सब्सिडी

  • किसानों को यह सभी कृषि यंत्र ग्रांट (Agricultural machine grant) पर दिए जा रहे है।
  • इसके लिए राज्य सरकार ने दो प्रकार की सब्सिडी की घोषणा की है।
  • अनुसूचित जाती, अनुसूचित जनजाति, लघु, सीमान्त एवं महिला कृषकों के लिए राज्य सरकार के तरफ से 50 प्रतिशत कि सब्सिडी पर कृषि यंत्र ले सकेगें वहीँ अन्य श्रेणी के किसानों को 40 प्रतिशत तक की सब्सिडी दी जाएगी।

Budget 2021-2022 : क्या है आम आदमी के लिए विशेष

कृषि यंत्र ग्रांट पर लेने के लिए दिशा निर्देश (Agricultural machine grant)

  • “पहले आओ पहले पाओ” के अनुसार कोई भी किशान सीमा के अंतर्गत यंत्र प्राप्त करने के लिए पात्र होंगे |
  • प्री बुकिंग एवं टोकन जनरेशन के लिए किसानो को अपने ही मोबाइल नम्बर का इस्तेमाल करना होगा।
    अगर किसी किसान के पास मोबाइल नम्बर न हो तो वो अपने किसी रिश्तेदार का मोबाइल नंबर इस्तेमाल कर सकता है।
  • अगर कोई किसान किसी डीलर का मोबाइल नम्बर उपयोग करता है तो इस स्थिति में सम्बंधित किसान अनुदान निरस्त करने के साथ ही सम्बंधित डीलर को ब्लैक लिस्ट कर किया जायेगा।
  • प्री बुकिंग वाले लाभार्थियों को “आपकी बुकिंग स्वीकार कर ली गई है” ऐसा सन्देश भेजा जायेगा तथा योजना के अंतर्गत बजट की उपलब्धता के आधार पर टोकन कन्फर्म करने का सन्देश भी मोबाइल नम्बर भेजा जायेगा।

कृषि यंत्र ग्रांट (Agricultural machine grant) के लिए आवेदन कैसे करें ?

  • आवेदन अनुदान प्राप्त करने हेतु किशानो को पोर्टल पर पंजीकरण करना होगा।
  • जिन किसानों का पहले से पंजीकरण नहीं हुआ है।
    ऐसे किसान अपने आधार कार्ड, बैंक पासबुक की झेरोक्स, मोबाईल नं. और खतौनी के साथ अपने विकासखण्ड के राजकीय कृषि बीज भण्डार प्रभारी अथवा जनपद के उप कृषि निदेशक कार्यालय से सम्पर्क कर सकते हैं।
  • किसान पंजीकृत द्वारा कृषि यंत्र पर अनुदान के लिए विभागीय पोर्टल upagriculture.com पर अपना आधार नंबर और मोबाईल नंबर डालकर OTP नम्बर प्राप्त होगा।
  • OTP मिलने के बाद टोकन जनरेट होगा तथा बैंक में जमा की जाने वाली धनराशी का चालान फ़ार्म प्राप्त होगा
  • फ़ार्म में समय पर जमानत धनराशी अपने नजदीकी यूनियन बैंक के किसी भी शाखा में जमा करनी होगी।
  • जब मशीन की सीमा समाप्त नहीं होगी तब किशानो को टोकन दिया जायेगा।
  • अगर एक बार टोकन ख़तम हो जाये तो वेटिंग लिस्ट की भी व्यवस्था की जाती है।

मकान की खरीदारी पर मिलेगी सरकारी राहत

कृषि यंत्र ग्रांट (Agricultural machine grant) के लिए जमानत राशि

किसानों को कृषि यंत्र (Agricultural machine grant) प्राप्त करने के लिए एक राशि जमा करानी होगी। और राज्य सरकार ने इसके लिए एक सीमा भी तय की है। यह राशी इस प्रकार है :-

  • 10 हजार या उससे कम राशि के सब्सिडी या ग्रांट वाले कृषि यंत्रों के लिए शून्य रुपये की जमानत राशि जमा करना होगा अर्थात ऐसे यंत्रों के लिए किसानों को किसी प्रकार की जमानत राशि नहीं देनी होगी।
  • दस हजार रुपये से अधिक तथा 1 लाख रुपये तक के ग्रांट वाले कृषि यंत्रों हेतु किसान को 2500 रूपये तक की जमानत राशि जमा करना होगा।
  • 1 लाख रूपये से अधिक ग्रांट वाले कृषि यंत्रों हेतु किसान को 5,000 रूपये तक की जमानत राशी जमा करना होगा।

जमानत धानराशि का चलान जमा करना होगा

  • किसानों को जमानत धनराशि जमा करने के लिए 5 दिन का समय मिलेगा इसके बाद किसानों को 21 दिन के अन्दर कृषि यंत्र (Agricultural machine grant) को खरीदकर पोर्टल पर बिल अपलोड करना अनिवार्य होगा |
  • तदुपरान्त लाभार्थी द्वारा क्रय किये कृषि यंत्रों के सत्यापन आदि के उपरांत डी.बी.टी. के माध्यम से नियमानुसार अनुदान का भुगतान किया जायेगा |