दिसम्बर 4, 2020

NewsJunglee

हमेशा सच के लिए तत्पर.

वित्तीय वर्ष 2019-20 के लिए आयकर रिटर्न की समय सीमा 31 दिसंबर तक बढ़ाई गई

1 min read
आयकर विभाग ने शनिवार को COVID-19 में करदाताओं को राहत देते हुए व्यक्तिगत आकलनकर्ताओं के लिए वित्त वर्ष 2019-20 (आकलन वर्ष 2020-21) के लिए एक महीने में अपनी रिटर्न फाइल करने की समय सीमा एक महीने बढ़ा दी।
वित्तीय वर्ष 2019-20 के लिए आयकर रिटर्न की समय सीमा 31 दिसंबर तक बढ़ाई गई
Loading...

आयकर विभाग ने शनिवार को COVID-19 में करदाताओं को राहत देते हुए व्यक्तिगत आकलनकर्ताओं (individual assessees) के लिए वित्त वर्ष 2019-20 (आकलन वर्ष 2020-21) के लिए एक महीने में अपनी रिटर्न फाइल करने की समय सीमा एक महीने बढ़ा दी।

 करदाताओं के पास अब 30 नवंबर के बजाय 31 दिसंबर तक  का समय हे , 1 अप्रैल, 2019 और 31 मार्च, 2020 के बीच अर्जित आय की अपनी रिटर्न फाइल करने के लिए ।

जिन व्यक्तियों को अपने खातों का ऑडिट करवाना आवश्यक है, उनके लिए 31 दिसंबर के बजाय 31 जनवरी की एक नई समय सीमा लागू है ।

अंतरराष्ट्रीय या निर्दिष्ट घरेलू लेनदेन ( International or specified domestic transactions ) पर ऑडिट रिपोर्ट प्रस्तुत करने के लिए आवश्यक आकलनकर्ताओं की अंतिम तिथि भी 30 नवंबर से 31 जनवरी तक बढ़ा दी गई है।

आयकर विभाग के शीर्ष नीति-निर्माण निकाय केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (CBDT) के अनुसार, “आयकर रिटर्न प्रस्तुत करने के लिए करदाताओं को अधिक समय प्रदान करने” के लिए नियत तारीखों को बढ़ा दिया गया है।

Loading...

आयकर विभाग ने “COVID-19 के प्रकोप के कारण वैधानिक और विनियामक अनुपालन को पूरा करने में करदाताओं द्वारा सामना की जाने वाली चुनौतियों” को स्वीकार किया।

source: Income Tax India

Loading...
Loading...

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *