नवम्बर 29, 2020

NewsJunglee

हमेशा सच के लिए तत्पर.

बेंगलोर मे हुई हिंसा violence in Bangalore

1 min read
violence in bangalore
Loading...

कर्नाटक Karnataka के बेंगलोर मे हुई हिंसा violence in Bangalore में 11 अगस्त की रात कुछ समुदाय के लोगो ने सड़को पर आगजनी set on fire की , लेकिन हालत बुधवार की सवेरे तक पुलिस के नियंत्रण में आ गये थे। ये विवाद सोशल मीडिया के एक पोस्ट से शुरू हुआ जब कांग्रेस विधायक श्री निवास मूर्ति के एक भतीजे ने सोशल मीडिया पर पैगम्बर हजरत को लेकर एक टिप्पणी की थी।

उसके बाद कुछ व्यक्ति विशेष लोगो ने इस टिप्पणी को अपने खिलाफ मान लिया और नाराज़गी बया करने के लिए हज़ारो लोग सड़को पर उतर आये।आगजनी कुछ इस तरह हुई की कई बसों में आग लगा दीये और पुलिस थाने में तोड़ फोड़ की। विधायक के घर भी आगजनी set on fire हुई और बहुत सी गाड़ियों को आग के हवाले कर दिया।

आगजनी (set on fire) के बाद पुलिस कार्यवाही

देर रात करवाई के बाद 3 लोग मारे गए और 145 लोग पकडे गए और इस पूरे घटनाक्रम मे SDPI का नाम सामने आया जिसके एक नेता “मुजमिल पासा” को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। विधायक के भतीजे नविन ने अपनी विवादित और भड़काऊ पोस्ट हटा ली है।

मंगलवार रात को बेंगलोर मे हुई हिंसा violence in Bangalore और आगजनी set on fire को काबू करने के ओपरेशन में कम से कम 50 पुलिसकर्मी शामिल थे, जो बुधवार की दोपहर तक जारी रहा। बेंगलोर मे हुई हिंसा violence in Bangalore में SP समेत 100 से ज्यादा पुलिसकर्मी भी घायल हुए हैं। हालात बेकाबू होने पर रात 12 बजे के बाद पुलिस को फायरिंग करनी पड़ी। लगभग रात के दो बजे हालत नियनत्रण में आये और दंगाई भाग गए।

बेंगलोर मे हुई हिंसा violence in Bangalore की वजह से डीजे हल्ली और केजी हल्ली इलाके में कर्फ्यू लगा दिया गया है और अन्य इलाको में धारा 144 लागु कीया है।

Loading...

SDPI अध्यक्ष इलियास मुहम्मद थुम्बे का बयान

इलियास मुहम्मद थुम्बे ,अध्यक्ष SDPI ने आजतक को बयां दिया की, “पुलिस का जो नेगलेजींस है ये सारे मामले का जिम्मेदार है क्युकी नविन जैसा एक क्रिमिनल कन्टिन्यूसली कई दिनों से इस्लाम के खिलाफ सोशल मीडिया पर पोस्ट डालने को आया था और उसने कुछ गुस्ताफि भी किया था इसको लेकर पोलिश स्टेशन में जब कम्प्लेन करने गए वहा के पोलिस ऑफिस और ACP, दो घंटा तीन घंटा टाइम दीजिये बोलकर कहा। लेकिन रात के साढ़े ग्यारह बजे तक वो नविन को अरेस्ट भी नहीं किया। कुछ भी कार्यवाही नहीं किया। ये देखकर आलरेडी जो लोग आक्रोश हुए थे लोग जम गए और इस तरह का इंसिडेंट हुआ है ये नहीं होना था लेकिन हुआ है।”

राजनीतिक पार्टियों का बयान

बेंगलोर में हुयी हिंसा riots in Bangalore पर बहुत सी पार्टियों के प्रवक्ता ने अपना बयान दिया।

भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के नेता अमित मालवीय ने BFI और उसके पोलिटिकल कार्यकर्त्ता पर बेंगलोर मे हुई हिंसा violence in Bangalore का इल्जाम लगाया है।

Loading...

भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) सांसद तेजस्वी सूर्या ने दंगाइयों की सम्पति उसी तरह जप्त करने की मांग की है जैसे यूपी सरकार ने CAA विरोधी दंगाइयों की सम्पति जप्त की थी। उन्होंने ये मांग ट्वीटर पर एक ट्वीट के जरिये प्रस्तुत की थी।

भारत की दूसरी मुख्य पार्टी कांग्रेस के नेता अभिशेख मनु सिंघवी ने बेंगलोर में हुयी हिंसा riots in Bangalore पर कहा की, “MLA श्री निवास मूर्ति के रिश्तेदार के भड़काऊ पोस्ट पर हिंसा हुयी। गाड़िया जली ,पत्थर फेंके गए और हालत तनावपूर्ण है। पुलिस को दखल देनी चाहिए और दंगाइयों को पकड़ना चाहिए और नुकशान की भरपाई करनी चाहिए।”उन्होंने भी ये मांग ट्वीटर पर एक ट्वीट के जरिये प्रस्तुत की थी।

हैदराबाद की मुख्य पार्टी के नेता असदुद्दीन ओवेसी ने कहा,”मै सभी से अपील करता हु की वो हिंसा में शामिल ना हो। मुझे उम्मीद है की शांति को बल मिलेगा।”

Loading...

हिंसा के खिलाफ अमीरे शीरियत ने लोगो से शांति बनाये रखने की अपील की है।

Source: ABP NEWS, AAJ TAK NEWS

Loading...

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *