tick borne virus

New virus in China : Tick-borne virus चीन में एक नया वायरस SFTS

Tick-borne virus चीन में एक नया वायरस SFTS वायरस कोई नया वायरस नहीं है। यह वायरस बुन्यावायरस ( Bunyavirus ) की श्रेणी का है। चीन ने 2011 में वायरस के रोगज़नक़ (pathogens) को अलग अलग कर दिया था।

राज्य द्वारा संचालित ग्लोबल टाइम्स ने मीडिया रिपोर्टों के हवाले रिपोर्ट प्रस्तुत किया की किटजनित (tickborne) वायरस के कारण होने वाली एक नई संक्रामक बीमारी ने सात लोगों की जान ले ली है और चीन में 60 अन्य लोगों को संक्रमित किया है, आधिकारिक मीडिया ने इसके मानव-से-मानव संचरण की संभावना के बारे में चेतावनी दी है। पूर्वी चीन के जिआंगसु (Jiangsu) प्रांत में 37 से अधिक लोग SFTS वायरस के संपर्क में आये हैं। और 23 लोग पूर्वी चीन के अनहुई (Anhui) प्रांत में संक्रमित पाये गये है।

जिआंगसु की राजधानी नानजिंग की एक महिला, जो वायरस से पीड़ित थी, उसमे बीमारी की शुरुआत बुखार और खांसी जैसे लक्षणों से हुई थी। डॉक्टरों ने उसके शरीर के अंदर ल्यूकोसाइट और रक्त प्लेटलेट की गिरावट देखी थी। एक महीने के इलाज के बाद उसे अस्पताल से छुट्टी मिल गई थी।

ग्लोबल टाइम्स की रिपोर्ट में कहा गया है कि वायरस के कारण अनहुई (Anhui) और पूर्वी चीन के झेजियांग (Zhejiang) प्रांत में कम से कम सात लोगों की मौत हो गई है। SFTS यह वायरस कोई नया वायरस नहीं है। चीन ने 2011 में वायरस के रोगज़नक़ (pathogens) को अलग अलग कर दिया था, और यह वायरस बुन्यावायरस (Bunyavirus) की श्रेणी का है।

वायरोलॉजिस्टों का मानना है कि यह संक्रमण मनुष्यों मे किट- पतंगों से फैल सकता है।

झेंग विश्वविद्यालय के अस्पताल के तहत एक डॉक्टर, शेंग जिफांग ने कहा कि यह वायरस मानव-से-मानव के संपर्क से नही फ़ैलता। लेकिन मरीज के रक्त या श्लेष्म के माध्यम से फैल सकता हैं।

डॉक्टरों ने चेतावनी दी कि यह वायरस प्रमुख रूप से किट ( Tick ) के काटने से फ़ैलता है, अगर लोग सतर्क रहेंगे तो उन्हे ऐसे वायरस के संक्रमण से घबराने की कोई जरूरत नहीं है।

Source : Financial Express, the Indian Express, ETIMES

Subscribe